Digital Arrest: हो जाइये सावधान वरना होगा आपका भारी नुकसान, आया फ्रॉड का नया तरीका

Photo of author
Written By Sandeep

At cmc.net.in, we are committed to maintaining the accuracy, reliability, and... 

Digital Arrest: जहां एक तरफ तकनीक से लोगो का जीवन आसान बन गया है, वहीं दूसरी ओर इंटरनेट के दौर में अब साइबर सिक्योरिटी एक अहम मुद्दा बन चुका है। हाल ही में गृह मंत्रालय में साइबर क्राइम के नए तरीकों को लेकर लोगों को सावधान किया है। साइबर अपराधियों द्वारा “डिजिटल गिरफ्तारी” की बढ़ती रिपोर्टों के बाद केंद्र सरकार ने ऑनलाइन धमकी, ब्लैकमेल और जबरन वसूली के लिए उपयोग की जाने वाली स्काइप आईडी को ब्लॉक करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के साथ सहयोग किया है।

ये भी पढ़े: SBI Amrit Kalash Scheme: एक स्कीम जो आपको बनाएगा लखपति

Digital Arrest: साइबर क्राइम के नए तरीके

खबरों में बताया जा रहा है कि देश में साइबर अपराधियों द्वारा साइबर क्राइम के नए-नए तरीके सामने आ रहें हैं। जिससे लोग जाने अनजाने साइबर फ्रॉड का शिकार हो रहे हैं। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है की साइबर अपराधियों द्वारा पुलिस अधिकारी बन कर और जांच एजेंसी के ऑफिसर बता कर लोगो को ठगा जा रहा है। ये अपराधी खुद को पुलिस वाला कह कर या किसी बड़ी एजेंसि से बता कर लोगों को ब्लैकमेल और डिजिटल गिरफ्तारी की धमकी देकर अपनी घटनाओं का अंजाम दे रहे हैं। अभी कुछ दिनों से राष्ट्रीय साइबर अपराध रिर्पोटिंग पोर्टल पर तेजी से ऐसी शिकायतें दर्ज कि जा रही है, तो आप सब पहले से सावधान हो जाएँ।

ये भी पढ़े: Widow Pension Scheme: सभी लोग ध्यान दें !! जल्दी से करा ले ये काम

Digital Arrest: हो जाइये सावधान वरना होगा आपका भारी नुकसान, आया फ्रॉड का नया तरीका

ये भी पढ़े: LIC Jeevan Shanti Policy: एक प्लान जो बनेगा आपके बुढ़ापे का सहारा, मिलेगा 11 हजार महिना

New Digital Scam: कैसे बना रहें हैं अपना शिकार

  1. इस साइबर अपराध में, धोखेबाज खुद को पुलिस, प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई जैसे कानून प्रवर्तन अधिकारियों के रूप में प्रस्तुत करते हैं, और उन्हें यह विश्वास दिलाते हैं कि उन्होंने कोई गंभीर अपराध किया है।
  2. यह अपराधी पीड़ितों को कॉल करतें हैं, जिससे कॉल पर पीड़ित ने कोई पार्सल भेजा है या प्राप्त किया है जिसमें अवैध सामान, ड्रग्स, नक़ली पासपोर्ट जैसी कोई अन्य प्रतिबंधित वस्तु के बारे में बताते हैं या पीड़ित का कोई करीबी व्यक्ति किसी अपराध या दुर्घटना में शामिल पाया गया है और उनकी हिरासत में है इसके बारे में बताते है।
  3. यह पीड़ित को यह विश्वास दिला देते हैं कि उसे ‘डिजिटल गिरफ्तारी’ के तहत रखा गया है और यदि वे घोटालेबाजों को बड़ी रकम का भुगतान नहीं करते हैं तो उन पर मुकदमा चलाया जाएगा।

ये भी पढ़े: HDFC Bank Work From Home Vacancy 2024: घर बैठे करे काम पाये 20 हजार वेतन

Digital Arrest Scam 2024: क्या है डिजिटल गिरफ्तारी?

डिजिटल अरेस्ट साइबर अपराध का एक नया एडवांस तरीका है। जिससे सीधा मतलब ऐसा है कि कोई आपको ऑनलाइन धमकी देकर ब्लैकमेल कर रहा है और वीडियो कॉलिंग के जरिए आप पर नजर रख रहा है। डिजिटल गिरफ्तारी के दौरान साइबर ठग नकली पुलिस अधिकारी बनकर लोगों को धमकाते हैं और अपना शिकार बनाते हैं। यहां पर जब तक उनकी माँगे न पूरी की जाए तब तक यह पीड़ित को स्काइप या अन्य वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग प्लेटफ़ॉर्म पर उपलब्ध रहने के लिए मजबूर करतें हैं। और उन्हें यह विश्वास दिलाते हैं कि उन्हें ‘डिजिटल गिरफ्तारी’ के तहत रखा गया है और जब तक वे भुगतान नहीं करते, वे अपना घर नहीं छोड़ सकते।

ये भी पढ़े: EPFO EPS 95 Scheme 2024: एक स्कीम से पूरे परिवार को पेंशन का लाभ

How to Complain for Digital Arrest Scam?: तत्काल करें साइबर क्राइम से संपर्क

अगर आपको भी एसा कोई कॉल आता है तो नागरिकों को तत्काल साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर 1930 या www.cybercrime.gov.in पर सहायता के लिए रिपोर्ट करना चाहिए।

Leave a Comment